नई दिल्‍ली: शाहरुख खान को बॉलीवुड का किंग ऑफ रोमांस कहा जाता है. वह अपने किरदारों में इमोशन्‍स और रोमांस का तड़का कुछ ऐसा लगाते हैं कि हर कोई उन किरदारों को याद करने लगता है. लेकिन बॉलीवुड में 25 साल पूरे कर चुके शाहरुख खान का कहना है कि वह किसी फिल्म को चुनते वक्त स्क्रिप्‍ट कभी नहीं सुनते. जी हां, शाहरुख खान तो यहां तक कह रहे हैं कि उन्‍हें स्क्रिप्‍ट समझ ही नहीं आती.  अपनी सुपरहिट फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ के 20 साल पूरे होने के मौके पर मंगलवार की रात आयोजित विशेष कार्यक्रम में शाहरुख ने कहा कि उन्होंने अक्सर और आज की तारीख तक कभी पटकथा नहीं सुनी. बल्कि वह अपनी फिल्‍मों के लिए निर्देशक की सोच और समझने को ज्यादा तरजीह देते हैं.

बता दें कि शाहरुख खान, रानी मुखर्जी और काजोल के बीच कॉलेज रोमांस और फिर प्‍यार की कहानी ‘कुछ कुछ होता है’ 1997 में रिलीज हुई थी. उस समय इस फिल्‍म ने बॉक्‍स ऑफिस पर धमाल मचा दिया था. 21 अक्‍टूबर को रिलीज हुई इस फिल्‍म को इस साल पूरे 20 साल हो गए हैं और इसी का जश्‍न मंगलवार को मुंबई में करण जौहर के धर्मा प्रोडक्‍शन ने काफी जोरशोर से मनाया. 20 साल पूरे होने की इस पार्टी में राहुल, अंजली और टीना यानी शाहरुख, कालोज और रानी तो थे ही, साथ ही बॉलीवुड के कई और सेलीब्रिटीज भी इस पार्टी में शामिल हुए.

 

शाहरुख ने इस मौके पर कहा, ‘‘मैं अपने साथ काम करने वालों के दिल की धड़कन सुनता हूं. कई युवा अभिनेता-अभिनेत्री मेरे साथ बैठते हैं और कहते हैं – ‘सर, आपने वह पटकथा छोड़ दी, वह बहुत बढ़िया थी.’ उन्होंने कहा, ‘मैं कोई स्क्रिप्‍ट नहीं समझ पाता. मैं खुलकर यह बोल रहा हूं. मुझे कोई पटकथा कभी समझ नहीं आई.’

Shah Rukh Khan, kajol and Rani celebrates Kuch Kuch Hota Hai 20 years together

बता दें कि यह फिल्‍म करण जौहर के निर्देशन में बनी पहली फिल्‍म थी. इतना ही नहीं यह ‘कुछ कुछ होता है’ करण जौहर के प्रोडक्‍शन हाउस धर्मा प्रोडक्‍शन की भी पहली ही फिल्‍म थी.