इस साल की दूसरी बड़ी फिल्म पैडमैन 9 फरवरी को रिलीज हो चुकी है। रिलीज से पहले जिस तरह से फिल्म के ट्रेलर और सांग को रिस्पांस मिला था ठीक उसी तरह का रिस्पांस फिल्म को भी मिला है। फिल्म में अक्षय कुमार की अदाकारी को काफी पंसद किया गया है। अक्षय कुमार के साथ ही फिल्म में राधिका आप्टे और सोनम कपूर की एक्टिंग भी काबिलेतारीफ रही है। फिल्म के निर्देशक आर बाल्की ने काफी खूबसूरती से महिलाओं से जुड़े मुद्दे पीरियड्स को फिल्माया है।लेकिन इन्ही सबके बीच अक्षय कुमार की पैडमैन पर एक नई मुसीबत आन पड़ी है। फिल्म के प्रोडूयसर पर स्क्रिप्ट चोरी का आरोप लगाया गया है। एक उभरते हुए राइटर रिपु ने ये आरोप लगाया है।

बता दें कि रिपु का आरोप है कि उन्होंने अपनी कहानी डेढ़ साल पहले धर्मा प्रोडक्शन को भेजी थी और फिल्म में कई सीन ऐसे हैं जो उनकी कहानी से लिए गए हैं। बता दें कि रिपु एक उभरते हुए लेखक हैं और फिल्मों के लिए कहानियां लिखने का शौक रखते हैं।इस मामले को लेकर रिपु ने अक्षय कुमार पर FIR भी दर्ज करा दी है।

रिपु ने सोशल मीडिय अकाउंट पर एक मैसेज और कुछ स्क्रीनशॉट को पोस्ट किए हैं। रिपु ने इस मैसेज में ये लिखा है कि वो- डेंढ़ साल पहले मैंने अरुणाचलम मुरुगनाथम और साती बायोडिग्रेडेबल सेनेटरी पैड्स पर एक स्क्रिप्ट लिखी थी और इस स्क्रिप्ट को रजिस्टर भी करवाया था। रिपु का कहना है कि उन्होंने ये कहानी ५ दिसंबर २०१६ को SCREEN WRITER ASSOCIATION में रजिस्टर्ड करा दी थी। अब वह अपनी इस कहानी को लेकर प्रोड्यूसर्स के खिलाफ केस लड़ने को तैयार हैं।

अब बात करें फिल्म की तो पहले दिन के बॉक्सऑफिस कलेक्शन की बात करें तो उम्मीद जताई जा रही है कि फिल्म ने पहले ही दिन अपने आधा बजट निकाल लिया है। बता दें कि फिल्म का कुल बजट तकरीबन ९० करोड़ है जिस तरह से फिल्म को अच्छी ओपनिंग मिली है उससे ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि फिल्म 12-15 करोड़ रुपये कमा चुकी है। ट्रेड एनालिस्ट गिरीश जौहर ने फिल्म द्वारा पहले ही दिन में 13-14 करोड़ की कमाई करने के कयास लगाए हैं

फिल्म की कहानी अरुणाचलम मुरुगदासन नामक एक शख्स की वास्तविक कहानी से प्रेरित है जिसने सस्ते सैनिटरी नैपकिन्स बनाने की शुरुवात की थी। जिसने अपनी पत्नी की माहवारी से जुड़ी समस्याओं को देखते हुए देश की प्रत्येक महिला की जिंदगी को आसान बनाने का लक्ष्य तय किया था।

अब बात करें फिल्म के निर्देशन की तो आर बाल्की ने पूरी कोशिश की है समाज के इस बड़ी समस्या के प्रति जागरुकता लाई जाए। फिल्म में अक्षय की एक्टिंग तो है ही साथ ही राधिका आप्टे की सहज ऐक्टिंग और सोनम कपूर ने भी अपनी ऐक्टिंग से फिल्म को सहज बनाया है। फिल्म में कुछ एक जगह ज्यादा उपदेशात्मक बन गई है। हालांकि वो चुटीले संवादों और लाइट कॉमिक दृश्यों के सहारे किसी तरह बैलेंस हो गई है। फिल्म पहले हाफ में तो दिलचस्प है ही लेकिन फिल्म का दूसरा भाग पहले से भी मजबूत है।